नकसीर के आयुर्वेदिक इलाज। नाक से खून आने के कारण। नकसीर के घरेलू उपायों से आप इस समस्‍या का उपचार 


नाक से खून आना घरेलू उपचार और नकसीर का आयुर्वेदिक इलाज – आइए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं। नाक से खून आना, नकसीर के आयुर्वेदिक इलाज सर्दी, जुकाम, ठंड, गर्भावस्था और गर्मी में नाक से खून बहने की समस्या से लोग परेशान रहते हैं। नाक से खून आने की समस्या को नोज ब्लीडिंग के नाम से जाना जाता है।

ज्यादातर यह समस्या गर्मियों में ही होती है। लेकिन कभी-कभार यह सर्दियों में भी हो जाती है। जिसका प्रमुख कारण नकसीर फूटना है। नकसीर आने की ज्यादातर समस्या हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित व्यक्ति को होती है।

उन्हें नाक में से खून निकलने की समस्या अक्सर होती है। वैसे तो यह कोई बड़ा रोग नहीं पर, बार बार नाक से खून का बहना, किसे गंभीर रोग के लक्षण भी हो सकते हैं। कभी-कभी हमारे नाक कि रक्त वाहिकाएं फट जाती है।

जिससे आपके नाक से खून निकलने लगता है। यह कई कई लोगों के लिए स्थाई समस्या बन जाती है। अगर आपको काफी समय से जुकाम की समस्या है। तो उसके कारण भी आपको नाक में खून आने जैसी समस्या हो सकती है।

नकसीर रोकने के लिए कुछ लोग दवा लेते हैं। पर हम हम आपको बताएंगे। ऐसे कुछ देसी घरेलू नुस्खे और रामबाण आयुर्वेदिक इलाज से नाक से खून गिरना बंद कर सकते हैं। इसीलिए आप इन उपायों को जरूर करें।

नाक से खून आने के कारण – नाक से खून आने का कारण और उपाय |

1 नाक पर चोट लगना खून, निकलने का एक बड़ा कारण है।
2 हाई ब्लड प्रेशर की वजह से कुछ लोगों को नकसीर फूटने लगती है।
3 खून पतला करने वाली दवाओं का अधिक सेवन करना, सर्दी जुकाम साइनस के रोग के कारण नोज ब्लीडिंग हो सकती है।
4 गर्भावस्था में भी कुछ महिलाओं के नाक से खून आना देखा गया है।

नाक से किसी प्रकार का नशा करना और शराब का सेवन अधिक करना है।

शरीर में विटामिन सी, बीट वेल, विटामिन , की कमी होने से भी नाक से खून निकलने लगता है।
7 गर्मी में ज्यादा भाग दौड़ करने से भी नकसीर फूटने की समस्या हो सकती है।

नाक से खून आना घरेलू उपचार और नकसीर का आयुर्वेदिक इलाज

1 पहला उपाय है ।अगर आपको बहुत ज्यादा नकसीर आती है। तो इसके लिए आपको जब भी नकसीर आये, तो नाक में दो-दो बूंद नींबू के रस तपकाने करने से नाक में खून आना बिल्कुल ही बंद हो जाती है।

2 दूसरा उपाय है। मिश्री के साथ 50 ग्राम कमल के सूखे हुए फूल, आपको यह पंसारी की दुकान में मिल जाएंगे। मिश्री 50 ग्राम दोनों को पीसकर मिला लें। इसकी एक चम्मच सुबह-शाम गर्म दूध में इसका सेवन करें। इसे एक सप्ताह तक लेने से नकसीर बिल्कुल ही ठीक हो जाती है।

3 तीसरा उपाय है। गर्म तासीर की चीजें जैसे अचार, तेल में तली हुई चीजें, बिल्कुल भी ना खाए। क्योंकि इन चीजों से हमारे शरीर में गर्मी होती है। अतः नकसीर हमें गर्मी के कारण ही होती है। इसीलिए आप इन चीजों का सेवन बिल्कुल भी ना करें।

4 चौथा उपाय है। 3 ग्राम सुहागे को थोड़े से पानी में मिलाकर उसका पेस्ट बना लीजिए। सुहागा आपको किसी भी पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जाता है। इसके बाद इस पेस्ट को बनाकर थोड़ा सा अपनी नाक के अंदर की तरफ लगा लीजिए। इस उपाय को करने से आपको तुरंत नाक से खून आना बंद हो जाएगा, और अगर आपको नाक से खून आने वाला होगा। तो वह भी बंद हो जाएगा। यह बहुत ही सरल उपाय इस उपाय को आप जरूर करें।

5 पांचवा उपाय है। प्याज तो हम सभी के घर में आसानी से उपलब्ध हो जाता है। यह नाक से निकलने वाले खून को रोकने के लिए बहुत ही अच्छा तथा सरल घरेलू उपचार है। नकसीर होने के तुरंत बाद एक प्याज को दो हिस्सों में काटकर सुनने से आपके नाक से बहता खून बिल्कुल ही बंद हो जाएगा।

6 छठवां उपाय है।इसके लिए आपको हरे धनिया की पत्तियां लेनी है, और उन्हें अच्छे से पीसकर उसके लेब को आप अपने माथे पर लगाएं इसके साथ साथ आप धनिया की रस की तीन बुन्दे अपने नाक के अंदर डालें। इसके साथ आप हरे धनिए की चटनी का भी सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको नकसीर की समस्या में बहुत ज्यादा लाभ मिलेगा। अगर आप किसी भी रूप में हरे धनिए का इस्तेमाल करते हैं। तो इससे आपको नाक से खून आने की समस्या में काफी लाभ मिलता है।

7 सातवा उपाय है। अगर आपको नकसीर जैसी समस्या होने वाली है। तो आप ऐसे में सबसे पहले बैठ जा,ए और आगे की ओर झुक जाए। ध्यान रहे आगे की ओर झुका रहे, ताकि ब्लड नाक में वापस ना चला जाए। नाक से खून बह रहा है। तो ऐसी स्थिति में आप लेटे रहे और अपने हाथों से ना को बिल्कुल भी ना रगड़े, और अपने नाक को पांच से 7 मिनट तक दबाकर रखें।

8 आठवां उपाय है। नकसीर आने पर रुमाल या पर साफ कपड़े को अपने नाक पर रखें। ताकि वह खून को सोख सकें। ठंडे पानी की धार बनाकर नाक पर डालने से नाक से खून का बहना बंद हो जाता है।

9 नोवा उपाय है।गर्मी में तेज धूप के कारण नाक से खून आता है, तो सिर्फ ठंडा पानी डालने से खून आना बंद हो जाता है। क्योंकि ठंडा पानी रक्त स्त्राव को तुरंत ही जमा देता है, और उसके बाद आपके नाक से खून आना बंद हो जाता है।

10 नकसीर फूटने के बाद दांत की जगह मुंह से सांस लेना चाहिए। इससे नाक में आया हुआ खून वापस नाक के अंदर नहीं जाता है।