जानिए बच्चा हिजड़ा क्यों पैदा होता है janiya bacche hijade paida kyon hota hai

जाने कि बच्चा हिजड़ा क्यों पैदा होता है, जी हां दोस्तों आज हम आपको बताते हैं, कि बच्चा हिजड़ा पैदा क्यों होता है, जी हां दोस्तों किसी के भी माता-पिता को यह पता नहीं होता है, कि उनके गर्भ में पल रहा बच्चा किन्नर है, या पुरुष

क्योंकि कोई भी महिला अपनी ओर से किसी किन्नर को पैदा नहीं करना चाहती है, क्योंकि किन्नर को आज भी हमारे समाज में एक अलग पहचान दी गई है।

उसे नॉर्मल लोगों की श्रेणी में नहीं रखा गया है। इसीलिए कोई भी मां यह नहीं चाहती है, कि उसकी औलाद किन्नर पैदा हो, क्योंकि किन्नरों को बहुत सारे दुख झेलने पड़ते हैं।

इसके अलावा उन्हें अपने माता-पिता से भी दूर रहना पड़ता है, और किन्नरों की परवरिश नॉर्मल बच्चे की तरह नहीं होती है। कुछ बड़ा होने के बाद बच्चे को हिजड़ों की टोली में छोड़ दिया जाता है।

जिससे कि वह वहीं पर पलता है, बड़ा होता है, और वही काम करता है। जो सारे जुड़े करते हैं। इसीलिए कोई मां यह नहीं चाहती है, कि उसका बच्चा किन्नर हो, लेकिन कई बार ऐसा हो जाता है, कि गर्भ में पल रहा बच्चा ही किन्नर पैदा हो जाता है।

बच्चे के किन्नर पैदा होने में माता-पिता का कोई दोष नहीं होता है, और ना ही बच्चे का दोष होता है, इसीलिए अगर किसी का बच्चा किन्नर पैदा होता है, तो उसे और उसके माता-पिता को बिल्कुल भी दोष नहीं दिया जाना चाहिए।

चलिए अब जानते हैं, कि बच्चा हिजड़ा पैदा क्यों होता है। बच्चा किन्नर तब पैदा होता है। जब मां के गर्भ में रक्त और वीर्य की मात्रा बराबर हो। अगर ऐसा होता है, तो बच्चा किन्नर पैदा होता है।

लेकिन कई सारे लोग यह भी कहते हैं, कि अगर किसी का बच्चा किन्नर पैदा होता है, तो यह उसके पिछले जन्म के आप होते हैं। अगर उसने पिछले जन्म में बहुत सारे पाप किए होते हैं। तभी बच्चा किन्नर पैदा होता है।

यह उसके पुराने कर्मों का फल होता है लेकिन इसके पीछे का सही कारण नहीं पता है, लेकिन इसका साइंटिफिक कारण हमने आपको ऊपर बता दिया था।

इसी प्रकार बच्चा किन्नर पैदा होता है।