गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए garbhwati mahila ko kab tak sambandh banana chahie

गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए,garbhwati mahila ko kab tak sambandh banana chahie,प्रेगनेंसी में सेक्स करना सही है या गलत,प्रेगनेंसी में पति से कब दूर रहना चाहिए,प्रेगनेंसी के बाद कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए,गर्भवती महिला को कितने दिन तक,प्रेगनेंसी में सेक्स करना सुरक्षित है,प्रेग्नेंट होने के बाद कब संबंध बनाना चाहिए,प्रेगनेंसी में संबंध कैसे बनाएं,गर्भावस्था में संभोग करना,गर्भावस्था में संभोग करना,गर्भावस्था की पहली तिमाही में संभोग करना चाहिए,क्या गर्भावस्था में सेक्स करना चाहिए,गर्भावस्था में शारीरिक संबंध बनाने चाहिए,प्रेगनेंसी के लिए कितनी बार करना करना चाहिए,प्रेगनेंसी में शारीरिक संबंध बनाने से परहेज रखना चाहिए,गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए,प्रेग्नेंट करने का तरीका,गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें,pregnancy ke time kya karna chahiye

आइए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं। गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए (garbhwati mahila ko kab tak sambandh banana chahie)

इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे, कि प्रेगनेंसी में कितने महीने तक संबंध बनाना चाहिए।
जाने गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए। (garbhwati mahila ko kab tak sambandh banana chahie)

जानते हैं गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए। इसी के साथ हम आपको यह भी बताएंगे, कि गर्भवती महिला को संबंध बनाते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

अब हम आपको बताएंगे। गर्भवती (garbhwati) महिला को पूरे गर्भ काल में कब संबंध बनाने चाहिए। प्रेगनेंसी (pregnancy) में कितने महीने तक संबंध बनाना चाहिए। प्रेग्नेंट (pregnant) होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए।
प्रेगनेंसी में कितने mahine तक संबंध नहीं बनाना चाहिए।

हम इसी के बारे में चर्चा करेंगे। गर्भावस्था में शुरुआती 3 महीनों में संबंध बनाने से बचना चाहिए। गर्भावस्था (garbhavastha) में शुरुआत के 3 महीनों में शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए।

क्योंकि 3 महीनों में बच्चे का विकास चरम पर आता है, इसीलिए 3 महीनों में शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए, क्योंकि 3 महीनों में गर्भपात (garpat) होने का खतरा रहता है।

गर्भवती महिला को शुरुआती तीन महीनों के बाद आप सातवें या आठवें महीने तक आराम से सेक्स कर सकते हैं। मतलब आप pregnancy के सातवें महीने में और आठवें महीने में आराम से संबंध बना सकते हैं।

इसके अलावा आपको नौवें महीने में गर्भवती महिला को संबंध बिल्कुल भी नहीं बनाने चाहिए‌‌। क्योंकि 9 वा गर्भवती महिला के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। 9 महीने में गर्भवती महिला को बहुत ज्यादा ध्यान रखना चाहिए।

इसके अलावा नौवें महीने में गर्भवती महिलाओं को संबंध बनाने से बचना चाहिए। इससे बच्चा जल्दी होने का खतरा रहता है।

प्रिय दोस्तों अब हम आपको बताते हैं। गर्भवती महिला को कब तक संबंध बनाना चाहिए। (garbhwati mahila ko kab tak sambandh banana chahie) प्रेगनेंसी में कितने महीने तक संबंध बनाना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को प्रेग्नेंट (pragant) होने के बाद patnar के साथ कब तक शारीरिक संबंध बनाना चाहिए, क्या गर्भवती महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाना सुरक्षित है।

गर्भवस्था में यौन संबंध बनाने से रक्तचाप (raktchap) सामान्य रहता है। क्या गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाना सुरक्षित है। आज हम आपको इन सभी सवालों के जवाब देंगे।

कई सारे लोग इस बात से डरते हैं, कि pregnancy के दौरान sex करने से उनके बच्चे (bacche) को खतरा (danger) होगा, लेकिन इसमें डरने वाली कोई बात नहीं है। गर्भवती महिला को संबंध बनाते समय कई सारी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

लेकिन गर्भवती महिला को शुरू के 3 महीने सेक्स (sex) करने से बचना चाहिए, क्योंकि इस समय शिशु का विकास (develop) चरम पर रहता है, और अगर आप इस समय संबंध बनाते हैं, तो बच्चे के लिए खतरा (danger) हो सकता है, क्या बच्चे (bacche) का विकास (develop) रुक सकता है।

अगर आप चाहे तो 4 से 8 month के बीच कभी भी संबंध बना सकते हैं। इस समय में संबंध बनाने में कोई भी समस्या (problem) का सामना नहीं करना पड़ेगा, लेकिन शुरू के 3 month आपको sex से दूर रहना चाहिए।

इसके अलावा गर्भवती महिला को नौवें महीने में भी संबंध नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि इस समय अगर आप संबंध बनाते हैं, तो बच्चा जल्दी होने का खतरा (danger) रहता है।

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए pregnant hone ke kitne din bad sambandh banana chahie

तक चलिए अब हम आपको बताते हैं, प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए (pregnant hone ke kitne din bad sambandh banana chahie)

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए, और प्रेग्नेंट होने के कितने दिन छोड़कर संबंध बनना चाहिए, क्या प्रेगनेंसी में रोजाना संबंध बनाना चाहिए।

आज हम आपको इस चीज के बारे में बताएंगे‌ प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए। प्रेगनेंसी में रोजाना संबंध बनाना सही है या नहीं

क्योंकि 3 महीनों में बच्चे का विकास चरम पर आता है, इसीलिए 3 महीनों में शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए, क्योंकि 3 महीनों में गर्भपात होने का खतरा रहता है।

गर्भवती महिला को शुरुआती तीन महीनों के बाद आप सातवें या आठवें महीने तक आराम से सेक्स (sex) कर सकते हैं। मतलब आप प्रेग्नेंसी के सातवें महीने में और आठवें महीने में आराम से संबंध बना सकते हैं।

इसके अलावा आपको नौवें महीने में गर्भवती महिला को संबंध बिल्कुल भी नहीं बनाने चाहिए, क्योंकि 9 वा pregnant महिला के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। 9 महीने में गर्भवती (pregnant)महिला को बहुत ज्यादा ध्यान रखना चाहिए।

इसके अलावा नौवें महीने में गर्भवती महिलाओं को संबंध बनाने से बचना चाहिए। इससे बच्चा (baccha) जल्दी होने का खतरा रहता है।

चलिए आज हम आपको बताते हैं। प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए (Pregnant hone ke kitne din bad sambandh banana chahie) प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना आपके लिए सही रहता है। प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद करना चाहिए।

प्रेग्नेंट (Pregnant) होने के कितने दिन बाद शारीरिक संबंध बनाना आपके होने वाले बच्चे के लिए नुकसानदायक (side effect) नहीं होता है। इसी के साथ हम आपको यह भी बताएंगे, कि गर्भावस्था (pregnancy) में संबंध बनाने के दौरान कौन-कौन सी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Pregnancy confirm होने के कितने दिन बाद आपको संबंध बनाने चाहिए, जी हां दोस्तों प्रेगनेंसी कंफर्म (Pregnancy confirm) होने के 3 महीने तक आपको संबंध बनाने से बचना चाहिए।

क्योंकि तिमाही में बच्चे (bacche) का चरण विकास होता है। जिससे कि अगर आप शारीरिक संबंध बनाते हैं, तो बच्चे (bacche) के विकास में बाधा आ सकती है। इसके अलावा pregnant mahila के पेडु और मांसपेशियों में dard भी हो सकता है।

इसके अलावा आप 4 महीने से 8 महीने के बीच कभी भी संबंध बना सकते हैं। इस बीच संबंध बनाने में आपको कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसके अलावा आपको pregnancy के 9वे महीने में शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि उस समय बच्चे (bacche) का पूर्ण विकास हो चुका होता है। जिससे कि अगर आप शारीरिक संबंध (sharirik sambandh) बनाते हैं तो बच्चा जल्दी पैदा होने का खतरा (danger) होता है।

अगर प्रेगनेंसी (pregnancy) के 3 महीने (month) में आपका मन करे संबंध बनाने का तो आप दोनों एक दूसरे को चूम कर और दूसरे तरीके से प्यार (pyar) करके, एक दूसरे के साथ प्यार जाहिर कर सकते हैं।

इसीलिए आपको pregnancy मैं 3 महीने में संबंध नहीं बनाना चाहिए। आप समझ गए होंगे कि प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए।

प्रेगनेंसी के लिए कितनी बार करना करना चाहिए pregnancy ke liye kitni baar karna chahiye

intercourse during pregnancy till which month आइए हम आपको बताते हैं। pregnancy ke liye kitni baar karna chahiye प्रेगनेंसी के लिए कितनी बार करना चाहिए प्रेगनेंसी के लिए कितनी बार करना पड़ता है।

इसी के साथ हम आपको यह भी बताएंगे, कि प्रेगनेंसी में कब करना चाहिए‌। प्रेगनेंसी के लिए आपको ओवुलेशन के समय में करना चाहिए।

कपल्स के लिए pregnant होना कड़ी मेहनत और stretch से भरा होता है प्रेगनेंसी में बहुत कुछ करना पड़ता है। प्रेगनेंसी के लिए कई बार करना पड़ता है।

प्रेगनेंसी के लिए कितनी बार करना चाहिए। इसका जवाब हम आपको देते हैं। प्रेगनेंसी के लिए में कम से कम 3 से 4 बार करना चाहिए।

लेकिन स्टडी (study) में पाया गया कि couple कंसीव करने के लिए महीने में कम से कम 13 बार सेक्स (sex) करते हैं। pregnancy ke liye kitni baar karna chahiye

प्रेगनेंसी (pregnancy) के लिए महीने में कम से कम 13 बार शारीरिक संबंध बनाने की जरूरत रहती है। pregnancy में 13 बार शारीरिक संबंध बनाने की जरूरत होती है।

प्रेगनेंसी में शारीरिक संबंध बनाने से परहेज रखना चाहिए। physical relation during pregnancy in hindi

आइए दोस्तों अब हम आपको चाहते हैं। physical relation during pregnancy in hindi क्या प्रेगनेंसी में शारीरिक संबंध बनाने से परहेज रखना चाहिए।

इसी के साथ हम आपको बताएंगे। क्या प्रेगनेंसी में यौन संबंध बनाना नुकसानदेह हो सकता है। क्या गर्भावस्था में शारीरिक संबंध बनाना चाहिए।

physical relation during pregnancy in hindi क्या प्रेगनेंसी में संभोग(sambhog) किया जा सकता है,चलिए हम आपको बताते हैं। प्रेगनेंसी में शारीरिक संबंध बना सकते हैं, या फिर प्रेगनेंसी में शारीरिक संबंध बनाने से परहेज रखना चाहिए।

जी हां दोस्तों ऐसा नहीं है, कि प्रेगनेंसी (pregnancy) में संभोग नहीं करना चाहिए, लेकिन प्रेगनेंसी में sambhog करते समय कई सारी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

लेकिन प्रेगनेंसी में शुरू के 3 महीने संबंध बनाने से बचना चाहिए। इसके अलावा सातवें और आठवें महीने में आप संबंध बना सकते हैं।

लेकिन नौवें महीने में आपको प्रेग्नेंट (pregnant) partners ahaके साथ संबंध नहीं बनाने से इससे बच्चे को नुकसान हो सकता है

गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए garbhpat ke kitne din bad sambandh banana chahie

आइए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं। गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए। (garbhpat ke kitne din bad sambandh banana chahie) मिसकैरेज (miscarriage)होने के कितने दिन बाद दोबारा संबंध बनाना चाहिए।

गर्भपात काफी तकलीफ देह होता है। कई सारी महिलाओं को गर्भपात (garpat) से बहुत बड़ा झटका लगता है‌। मैं यह सोचती है, कि गर्भपात होने के बाद उनकी दुनिया ही खत्म हो जाती है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है।

गर्भपात के बाद वह दुबारा संबंध (sambandh) बनाती है। इसीलिए बिल्कुल भी निराश ना हो अब हम आपको बताते हैं। गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए।

प्रेग्नेंट (pregnant) होने के लिए गर्भपात के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए। सबसे पहले हम आपको बताते हैं। गर्भपात यानी मिसकैरेज (miscarriage) किसे कहते हैं।

जब प्रेग्‍नेंसी के 20 वें सप्‍ताह से पहले ही भ्रूण नष्‍ट हो जाए, तो इस स्थिति को गर्भपात यानी miscarriage कहते हैं।

अब हम आपको बताते हैं, गर्भपात यानी मिसकैरिज के कितने दिन बाद शारीरिक संबंध बना सकते हैं, या फिर प्रेग्नेंट (pregnant) होने के लिए गर्भपात के कितने दिन बाद शारीरिक संबंध बना सकते हैं।

चलिए हम आपको बताते हैं। कब शारीरिक संबंध बनाने चाहिए। मिसकैरेज (miscarriage) के दो महीने बाद ओवुलेशन (ovulation) शुरू होने बाद आपको संबंध बनाने चाहिए।

गर्भपात के बाद महिला को 2 month बाद ovulation के समय में संबंध बनाने से महिला प्रेग्नेंट हो सकती है। गर्भपात के के बाद महिला को 2 month बाद आपको बनाने चाहिए।

प्रेग्नेंट करने का तरीका pregnent karne ka tarike

pregnant karne ka sahi tarika in hindi आइए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं, प्रेग्नेंट करने का तरीका प्रेग्नेंट करने का सही तरीका क्या है। किस तरीके से आप महिला को प्रेग्नेंट कर सकते हैं। इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे, कि pregnant hone k liye kya karna chahiye

pregnant करने के कुछ उपाय इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे कि प्रेग्नेंट (pregnant) होने के लिए क्या करना पड़ता है। pregnant hone k liye kya karna chahiye क्या करने से प्रेग्नेंट होने के chances 100% बढ़ जाते हैं।

कई सारी महिलाओं की कुछ गंदी आदतों के कारण भी मैं चाह कर भी मां (maa) नहीं बन पाती है, इसीलिए pregnant होने के लिए महिला को किसी भी गंदी आदत का शिकार नहीं होना चाहिए।

अगर कोई महिला गर्भधारण का प्रयास कर रही है, लेकिन फिर भी गर्भधारण नहीं कर पा रही है, और फिर वह यह सोचती रहती है, कि pregnant hone k liye kya karna chahiye तों वह अपनी कुछ आदतें बदल कर या फिर कुछ सावधानियां रखकर प्रेग्नेंट (pregnant) हो सकती है।

चलिए अब हम आपको बताते हैं। pregnant करने का सही तरीका क्या है। प्रेग्नेंट (pregnant) करने का सही तरीका अपनाकर आप भी प्रेग्नेंट हो सकती हैं‌। pregnant hone k liye kya karna chahiye

pregnant karne ka sahi tarika‌ प्रेग्नेंट करने का सही तरीका

1 गर्भधारण सही उम्र में करे (garbhdharan sahi umra mein Karen)

लड़की को प्रेग्नेंट करने का सही तरीका यही है, कि गर्भधारण के समय लड़की की उम्र सही हो लड़की को प्रेग्नेंट (pregnant) करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें, कि गर्भधारण सही उम्र में करें।

Doctor के अनुसार गर्भधारण (garbhdharan) की सही उम्र 18 साल से 28 साल के बीच में होती है, क्योंकि इस उम्र में फर्टिलाइजेशन (fertilization) ज्यादा होते हैं। जिससे आप सही उम्र में pregnant हो सकती है।

इसीलिए garbhdharan सही उम्र में करें। गर्भधारण 18 से 28 के बीच में ही करें। इससे मां और बच्चा दोनों सुरक्षित रहते हैं।

2 माहवारी का चक्र नियमित करें (mahavari ka chakra niyamit Karen)

जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए आपको माहवारी का चक्र नियमित होना चाहिए। आपको समय पर पीरियड आने चाहिए। अगर आपका पीरियड चक्र नियमित रहता है, तो आप जल्दी मां बन जाती है।

इसके अलावा अगर आपको mahavari रेगुलर नहीं हो रहे हैं, तो आपको doctor की सलाह लेनी चाहिए। जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए पीरियड (period) का समय पर आना बहुत जरूरी होता है।

3 ऑवुलेशन पीरियड पर नजर रखें (ovulation period per najar rakhen)

लड़की को प्रेग्नेंट करने के लिए सबसे अच्छा तरीका यही है। ऑवुलेशन पीरियड पर नजर रखें। जब महिला का ऑवुलेशन (ovulation) का समय हो तब आपको महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने चाहिए।

अगर आप ovulation के समय में महिला के साथ संबंध बनाते हैं, तो महिला के प्रेग्नेंट होने के chances100% रहते है, इसीलिए ovulation के समय का ध्यान रखें।

4 नशा बिल्कुल भी ना करें (nasha bilkul bhi Na kare)

अगर आप प्रेग्नेंट होना चाहते हैं, तो आपको बिल्कुल भी नशा नहीं करना चाहिए। आजकल की मॉडल लड़कियां सिगरेट व शराब का सेवन करती है।

जिससे कि फिर प्रेग्नेंट (pregnant) होने मैं कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, क्योंकि धूम्रपान प्रजनन की क्षमता को कम करता है। इससे महिला pregnant नहीं हो पाती है।

इसीलिए अगर कोई महिला प्रेग्नेंट (pregnant) होना चाहती है, तो नशे का सेवन बिल्कुल भी ना करें।

5 वजन पर कंट्रोल करें (vajan per control Karen)

लड़की को प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे पहले अपना वजन कंट्रोल करना चाहिए। बढ़े हुए वजन या बढ़ते हुए वजन के दौरान कंसीव करने में काफी परेशानी होती है।

कई सारी महिलाएं अपने बढ़ते हुए वजन की वजह से प्रेग्नेंट नहीं हो पाती है, क्योंकि बढ़ते हुए वजन के कारण ओवरी (ovary) बंद होने की आशंका रहती है।

इसीलिए लड़की को प्रेग्नेंट करने के लिए सबसे पहले लड़की का वजन control करना चाहिए।

प्रेगनेंसी के टाइम क्या करना चाहिए pregnancy ke time kya karna chahiye

आइए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं, pregnancy ke time kya karna chahiye प्रेगनेंसी के टाइम क्या क्या करना चाहिए। प्रेगनेंसी के टाइम में कौन कौन सी खास बातों का ध्यान रखना चाहिए।

इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे, कि प्रेगनेंसी में कौन कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए। जिससे कि आप और आपका बच्चा सुरक्षित रहें।

चलिए अब हम आपको बताते हैं, प्रेगनेंसी में क्या करना चाहिए। प्रेगनेंसी में कौन सी खास बातों का ध्यान रखना चाहिए।

इसी के साथ हम आपको यह भी बताएंगे कि गर्भावस्था के नौ महीने में महिलाओं को क्या-क्या करना चाहिए 9 महीने की पूरी जानकारी देंगे।

प्रेगनेंसी के दौरान इन बातों का खास ध्यान रखें।

1 सबसे पहले समय-समय पर डॉक्टर की सलाह ले डॉक्टर से जांच कर आते रहे।

2 उल्टी जी मिचलाना हाथ पैर दर्द करना पेट का दर्द करना ऐसी स्थिति में डॉक्टर की जरूर ले।

3 गर्भावस्था में भारी समान बिल्कुल भी ना उठाएं।

4 प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा यात्रा ना करें यात्रा से परहेज करें।

5 प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा व्यायाम ना करें। एक्सरसाइज ना करें और ज्यादा भागदौड़ वाला काम ना करें।

6 इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान आपको नार्मल खाना खाना चाहिए।

7 इसके अलावा ज्यादा देर तक एक जगह बैठा है, और ज्यादा देर तक एक करवट पर ना सोये।

8 प्रेगनेंसी के दौरान पपीते और अनानास का सेवन ना करें। इसके अलावा गर्मी होने वाले सभी फलों से परहेज करें।

9 इसके अलावा हरी सब्जी का सेवन ज्यादा करें। दाल और हरी पत्तियों का सेवन भी करें। धनिया पुदीने का सेवन भी करें।

10 गर्भवती महिला को ज्यादा देर तक नहीं सोना चाहिए बच्चा भी आलसी पैदा होता है।

गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें galti se pregnant ho jaaye to kya Karen

If girlfriend because pregnant what to do हम आपको बताते हैं, गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें। अगर कोई लड़की गलती से प्रेग्नेंट हो जाए, तो क्या करें या फिर अगर आपकी गर्लफ्रेंड गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें।

जानें, गर्लफ्रेंड हो जाए प्रेगनेंट तो क्या करें। एक गर्लफ्रेंड गलती से प्रेग्नेंट हो जाए, तो हमें यह समझ में नहीं आता है कि हम अब क्या करें।

इसीलिए आज हम आपको बताएंगे। गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें। इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें galti se pregnant ho jaaye to kya Karen

1 लड़की से बात करें (ladki se baat Karen)

सबसे पहले लड़की से बात करनी चाहिए। अगर आपकी गर्लफ्रेंड (girlfriend) गलती से प्रेग्नेंट हो जाए। सबसे पहले आपको लड़की से बात करनी चाहिए। अगर आपकी गर्लफ्रेंड आपके बच्चे की मां बनने वाली है, तो आप दोनों को शादी कर लेनी चाहिए।

यदि आप एक दूसरे से सच्चा प्यार करते हैं, तो आपको अपनी प्रेग्नेंट गर्लफ्रेंड से शादी करनी चाहिए। अगर आपके माता पिता शादी के लिए राजी नहीं है, तो आपको उन्हें शादी के लिए मनाना चाहिए।

2 प्रेगनेंसी चेक करें (Pregnancy check Karen)

कई बार ऐसा होता है, कि लड़की प्रेग्नेंट नहीं होती है, लेकिन फिर भी हम यह सोचते रहते हैं, कि लड़की प्रेग्नेंट है, तो इस कंडीशन में आपको सबसे पहले प्रेगनेंसी कंफर्म करनी चाहिए, कि आपकी गर्लफ्रेंड प्रेग्नेंट है या नहीं है।

इसके लिए आप घर बैठे प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकते हैं। क्या आप किसी भी मेडिकल स्टोर से प्रेगनेंसी टेस्ट खरीद कर अपनी गर्लफ्रेंड को दे, या फिर अपनी गर्लफ्रेंड को बोलेगी।

वह प्रेगनेंसी टेस्ट खरीद कर ला कर टेस्ट करें। इससे यह कंफर्म हो जाता है, कि आपकी गर्लफ्रेंड प्रेग्नेंट है या नहीं है, इसीलिए सबसे पहले प्रेगनेंसी टेस्ट जरूर करवाएं।

3 डॉक्टर से सलाह लें (doctor se Salah le)

अगर आपको यह पता चल जाता है, कि लड़की सच में प्रेग्नेंट है, तो आपको डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए, क्योंकि इस मामले में आपको डॉक्टर सबसे अच्छी सलाह दे सकता है।

इसीलिए इस बात का खुलासा होने के बाद अपने जान पहचान के डॉक्टर के पास जाकर इस चीज का सलूशन निकाल ले। इसके अलावा अपनी girlfriend को बोला किसी ladies doctor के पास जाकर check up करवाएं।

4 गर्भपात करवाए (garbhpat kare)

आइए दोस्तों हम आपको बताते हैं। अगर आपकी गर्लफ्रेंड की प्रेगनेंसी ज्यादा दिनों के हो गई है, तो उन्हें घर पाती करवाना होगा। इसके लिए उन्हें किसी लेडी डॉक्टर के पास जाना होगा।

इसके अलावा उन्हें यह बोल दे कि अपनी दोस्त को अवश्य साथ में लेकर जाए, क्योंकि सफाई के बाद चक्कर आना जी घबराना जैसे कमजोरी होने लग जाती है।

इसीलिए हेल्प करने के लिए किसी ना किसी का होना बहुत जरूरी होता है।

गर्भावस्था का 9वा महीना 9 months pregnant se

sex in last month of pregnancy आइए दोस्तों आज मैं आपको नौवें महीने की प्रेगनेंसी की पूरी जानकारी देंगे। गर्भावस्था के नौवें महीने की संपूर्ण जानकारी all about 9 month of pregnancy

प्रेग्नेंसी के नौवें महीने में कौन-कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए नौवें महीने की प्रेगनेंसी में आपको सेक्स करना चाहिए या नहीं करना चाहिए। इसके बारे में भी पूरी जानकारी देंगे।

जब महिला नौवें महीने में कदम रखती है। तब मिला के चेहरे पर हमेशा हंसी बनी रहती है। महिला जिस बच्चे को कितने दिनों से अपने पेट में रखती है, इसीलिए महिला को उसका इंतजार बेसब्री से होता है।

एक बात हम आपको अच्छे से बता देते हैं, कि 9 महीने में जब महिला का नौवां महीना चल रहा है। गर्भवती महिला को संबंध नहीं बनाना चाहिए।

क्योंकि नोवा महीना लास्ट महीना होता है, इसीलिए नौवें महीने में कभी भी संबंध नहीं बनाने चाहिए। यह आपके बच्चे के लिए ख़तरनाक साबित हो सकता है।

intercourse during pregnancy till which month