गांड कैसे मारते हैं? gand kaise maarte hain? गांड मारने के तरीके गुदा मैथुन कैसे करें? गुदा मैथुन के फायदे बतायें?

गांड कैसे मारते हैं? gand kaise maarte hain? गांड मारने के तरीके गुदा मैथुन कैसे करें? गुदा मैथुन के फायदे बतायें? क्या गांड मारने में मजा आता है? ladkiyon ki gand chudai
ladki ki gand dikhao , ladkiyon ki gand ki chudai , ladki ki gand maarte hue
hijade ki gand kaise mari jaati hai गुदा मैथुन के नुकसान बतायें? गुदा मैथुन कब करना चाहिए?

वैसे तो अधिकतर महिलाएं गांड मरवाने से परहेज करती हैं। क्योंकि ये अप्राकृतिक सेक्स होता है और गांड में दर्द भी ज्यादा होता है। फिर भी कुछ तरीके हैं, जिनके जरिए हम आपको बतायें कि ladki ki gand kese mare? या biwi ki gand kaise mare?

गांड मारने के तरीके (gand marne ka tarike)

  1. डाॅगी स्टाइल पोजिशन
    बीवी को बिस्तर पर घोड़ी बनाकर गांड मारनी चाहिए। इस पोजिशन में बीवी बिस्तर पर हाथ टिकाकर झुक जाती है और पति, बीवी के पीछे आकर gand me land घुसाता है। फिर उसके साथ गुदा मैथुन करता है।
  2. काउगर्ल पोजिशन
    इस पोजिशन में पुरूष नीचे पीठ के बल लेटा होता है और औरत, पुरूष के ऊपर बैठकर प्यार की कमान खुद संभालती है। सारा कंट्रोल औरत के हाथ में होता है। जो जानना चाहते हैं कि gand kaise marte he तो उनके लिए काउगर्ल पोजिशन बेहतर है। इसमें लिंग सीधा गुदा के अंदर आसानी से प्रवेश कर जाता है।
  3. स्पूनिंग सेक्स पोजिशन
    इस पोजिशन में आप किसी भी indian ladki ki gand mein land आसानी से घुसा सकते हैं। यानी गुदा में लिंग प्रेवश कर सकते हैं। दरअसल इस पोजिशन में लड़का और लड़की एक ही दिशा में करवट लेकर एक-दूसरे से सटकर लेट जाते हैं। यानी लड़की की पीठ लड़के की ओर होती है और लड़का पीछे से सटकर लेटा होता है। इस पोजिशन में लड़का अच्छे से देख लेता है कि ladki ki gand kaisi hoti ha? फिर पीछे से लेटकर गुदा मैथुन कर सकता है।

उपरोक्त बताये गये पोजिशन को आप अपनायें और गुदा मैथुन करें। मगर दोनों की सहमति से। अगर आपकी फिमेल पार्टनर ऐनल सेक्स के लिए तैयार है, तो ही आप उसके साथ ऐनल सेक्स करें। वैसे भी गुदा मैथुन इस बात पर निर्भर करता है कि ladki gand kaise marwati hai?

गुदा मैथुन कैसे करें?

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाना यानी सेक्स करना एक आम बात होती है। कई पुरूषों के मन में तो शादी की पहली रात को लेकर बड़ा डर रहता है। जैसे कि सुहागरात में सेक्स कैसे करें? सुहागरात कैसे मनायें? सुहागरात में शुरूआत कैसे करें? कहीं लिंग से वीर्य जल्दी तो नहीं झड़ जायेगा। क्या मैं पत्नी को संतुष्ट कर पाऊंगा।
वैसे तो आम तौर पर सुहागरात में बीवी की chut kaise marte he, ये ही सवाल दिमाग में घूमता रहता है। लेकिन कई पुरूषों की ख्वाहिश ही कुछ और होती है। वो ये सोचते हैं कि लड़की की गांड कैसे मारते हैं? (ladki ki gand kaise maarte hain) या फिर सीधे तौर पर gand kasie marte h? क्या आप भी जानना चाहते हैं कि ladki gand kaise mare?

क्या गांड मारने में मजा आता है?

अगर आपके लंड में दम है और आप जानते हैं कि ladki ki gand me land कैसे दिया जाता है? या ladki ki gand ki chudai कैसे की जाती है, तो आपको गांड मारने में मजा आ सकता है। कई पुरूष तो अपनी बीवी को सही से चोद भी नहीं पाते। यार दोस्तों से सलाह लेते हैं कि lugai ko kaise chodte hain? biwi ki gand kaise mare? उनको हमारी यही सलाह है कि पहले आप बीवी की चूत मारना सीखिए।

गांड कैसे मारते हैं? (gand kese marte h)

गुदा मैथुन कैसे करते हैं? (guda maithun kaise karte hain) कहें या गांड कैसे मारते हैं (gand kese marte hai) कहें या गुदा मैथुन कैसे करें? इसका जवाब यही है कि जब आप पहली बार लड़की गांड देखकर उसकी गांड मारने की सोचते हैं, तो यह आपको थोड़ा अटपटा लगा सकता है। इसलिए पहले सही आप आपनी पार्टनर के साथ मिलकर ये तय कर लीजिए कि आप और आपकी पार्टनर दोनों गुदा मैथुने करने के लिए सहमत हैं। दोनों ही सहमति से किया गया गुदा मैथुन सही रहेगा। यदि आपकी पार्टनर को या फिर स्वयं आपको गुदा मैथुन पसंद नहीं है, तो पहले आपस में यह मामला निपटा लीजिए।

यदि आप और आपकी पत्नी एनल पेनेट्रेशन (anal penetration) के लिए सहमत हैं, तो आपस में पहले ये तय करें कि आप तनावरहित हैं और इसके लिए पूरी तरह तैयार भी हैं।

गांड में एक ऐसी चमड़ी (मांसपेशी) होती है, जिसे आराम देने की जरूरत होती है। इसलिए, ladkiyon ki gand chudai के दौरान सेक्स लुब्रिकेंट्स का जितना हो सके इस्तेमाल करें। इसके साथ ही एनल पेनेट्रेशन से पहले किया गया हस्तमैथुन (masturbation), फोरप्ले (foreplay), ओरल सेक्स (oral sex) या हॉट बाथ आपके पार्टनर को काफी आरामदायक महसूस करा सकता है।

कई बार कई पुरूष जब गुदा मैथुन करने जाते हैं, तो उनकी कल्पना में गांड की एक बुरी छवि होती है। उन्हें लगता है कि कहीं गंदी गांड होगी तो कैसे मारूंगा। इसलिए आप चाहे तों अपनी संतुष्टि के लिए या फिर खुद को तैयार करने के लिए और लिंग में भरपूर तनाव लाने के लिए आप अपने आप से मन में कहें कि मुझे अभी ladki ki gand dikhao। ऐसा महसूस करने से आपके लिंग में भी भरपूर तनाव आयेगा और आप अच्छे से गुदा मैथुन कर पायेंगे।

गुदा मैथुन के दौरान सुनिश्चित करें कि आप अपनी महिला साथी की बात को ध्यान पूर्वक सुनें भी और समझें भी। पता करते हैं कि आपकी पार्टनर को गांड मरवाने में मजा आ रहा है या नहीं? कहीं अधिक दर्द तो महसूस नहीं हो रहा है? किसी प्रकार की कोई असहजता तो नहीं हो रही है? अगर महिला साथी को थोड़ी भी असहजता महसूस हो रही हो तो तुरन्त रूक जाइए। कोई जोर जबरदस्ती ना करें। अन्यथा इसका विपरीत प्रभाव भी पड़ सकता है।

अगर आप पहली बार एनल कर रहे हैं तो अचानक से इंटरकोर्स ना करें। याद रखें आपको धीरे-धीरे ही एनल सेक्स शुरू करना है। फोरप्ले के बिना कोई सेक्स पेनफुल हो सकता है।

यदि आप प्रथम बार गुदा मैथुन कर रहे हैं, तो तुरन्त लिंग को गुदा में प्रवेश ना करायें। आप खुद को यह समझायें कि आपको जल्दबाजी नहीं करनी है। धीरे-धीरे आगे बढ़ते हुए। फोरप्ले करते हुए। एकदम शांति और प्रेम पूर्वक ladkiyon ki gand ki chudai करनी है। ऐसा करने से आपकी पार्टनर को गांड मरवाने में बहुत मजा आयेगा। वो आपके साथ सहज महसूस करेगी। अन्यथा आपकी जल्दबाजी में किया गया गुदा मैथुन आपकी पार्टनर के लिए बहुत ज्यादा दर्दनाक हो सकता है। फोरप्ले संभोग में एक खास भुमिका निभाता है। यह सेक्शुअल डिजायर (sexual desire) को बढ़ाता है।

moti gand ki ladki ki chudai के लिए सेक्स पोजीशन का भी चुनाव आप कर सकते हैं। गांड चुदाई के लिए मिशनरी, डॉगी स्टाइल और काऊ सेक्स आसन बढ़िया रहता है।

कुछ लोग ladki ki gand maarte hue पहले उससे उसकी गांड को साफ करने के लिए कहते हैं। स्वयं लड़की भी अपनी गांड को साफ करती है। यदि आप ऐसा करने की सोच रहे हैं तो सिर्फ पानी का ही इस्तेमाल करें। साथ ही गुदा की सफाई आराम से ध्यान पूर्वक करें ताकि कोई खरोंच या कट न लगे।

gand kaise marte hai से पहले इस ये बात ध्यान में रखना जरूरी है कि anal sex से एसटीआई (STI) का खतरा अधिका बना रहता है। दरअसल गुदा में या उसके आसपास के क्षेत्र पर कई बैक्टीरिया या गंदे पदार्थ होते हैं। जब आप गुदा में लिंग प्रवेश कराते हैं, तो ये गंदगी और बैक्टीरियाज़ आपके लिंग में आ जाते हैं। ऐसे में जब आप महिला की योनि में लिंग में प्रवेश कराते हैं, तो उसे भी संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। इसलिए कॉन्डम का प्रयोग करना बिल्कुन ना भूलें।

हिजड़े की गांड कैसे मारी जाती है? (hijade ki gand kaise mari jaati hai)

हिजड़े की गांड कैसे मारी जाती है? (hijade ki gand kaise mari jaati hai)
जिन पुरूषों को गांड चुदाई का शौक होता है। वो अपनी जरूरत के लिए हिजड़े की गांड मारने से भी पीछे नहीं हटते हैं। उन्हें केवल गांड चुदाई करने से मतलब होता है। क्योंकि हिजड़े की योनि होती नहीं है, तो जाहिर है कि उनके साथ आप गुदा मैथुन ही कर सकते हैं। कई लोग जो ऐसा सोचते हैं kuwari ladki ki gand kaise mare? ऐसे लोग ही ज्यादातर महिला साथी ना मिलने पर हिजड़े की गांड कैसे मारी जाती है, ऐसा सोचने पर विवश हो जाते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि सभी हिजड़े व किन्नर योनी और लिंग का बहुत कम उपयोग करते है। और उनके संभोग करने के तरिके साधारण तरिके से अलग होते है। आपको शायद ये जानकर हैरानी होगी कि वे लोग गुदा मैथुन, मुख मैथुन और एक दूसरे को छुकर ही आनंद उठाते है। और भी कई सारे तारिके होते है जिनसे वे आनंद उठाते है।

जहां तक प्रश्न है कि hijade ki gand kaise mari jaati hai तो बता दें कि सभी हिजड़े व किन्नर योनि और लिंग का ज्यादातर कम ही इस्तेमाल करते हैं। उनका सेक्स करने का तरीका सिम्पल तरीके से थोड़ा अलग होता है। ये अपनी उत्तेजना को शांत करने के लिए क्या करते हैं, शायद आप जानेंगे तो अचरज में पड़ जायेंगे। ये लोग गुदा मैथुन, मुख मैथुन और एक-दूसरे के विशेष अंगों को स्पर्श करके ही अपनी संतुष्टि प्राप्त कर लेते हैं। और भी कई प्रकार के प्रयोग से ये लोग अपनी यौन जिज्ञासा को शांत करते हैं और मजा उठाते हैं।

लड़की की गांड कैसे मारी? (ladki ki gand kaise mari?)

लड़की की गांड कैसे मारी? (ladki ki gand kaise mari?)
गांड चुदाई के कई दीवाने ऐसे भी हैं, जो गांड मारने से ज्यादा, ladki ki gand kaise mari, ये जानने और सुनने के लिए उत्सुक रहते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऐसे पुरूषों के पास अपनी यौन उत्तेजना को शांत करने का कोई साधान पास में उपलब्ध नहीं होता है। यानी कोई प्रेमिका, पत्नी या स्त्री नहीं होती है। तो ऐसे में गांड कैसे मारी ये सुनकर ही आनंद ले लेते हैं।

गुदा मैथुन के फायदे बतायें?

शायद आपको जानकर होगी कि गुदा मैथुन यानी गांड चुदाई के 3 बड़े फायदे भी हैं। अगर आप यह हिंदी लेख पढ़कर आनंद महसूस कर हैं, तो बतादें कि आप भी चाहें तो ladka ladki ko gand maarta hai sexy video भी देख सकते हैं। आपको ये इंटरनेट की दुनियां में आसानी से उपलब्ध हो सकता है।

तो आइए जानते हैं गुदा मैथुन के 3 फायदों के बारे में..

गर्भ ठहरने का भय नहीं रहता

gand kese marte he? ये तो आप भी जान ही गये होंगे। यानी की लिंग को गुदा में प्रवेश करा कर अधिकतर गुदा मैथुन किया जाता है। ऐसे में महिला को इस बात की संतुष्टि रहती है कि कुछ भी हो कम से कम गांड मरवाने से उसे प्रिग्नेन्ट होने का खतरा नहीं है। दरअसल जब तक लड़के वीर्य यानी स्पर्म लड़की योनि में नहीं जायेगा, तब तक वह गर्भवती कैसे होगी? इसलिए अगर आप एनल सेक्स को ट्राई करने का सोच रहीं है। इसका मजा लेने का विचार कर रही हैं, तो गुदा मैथुन कोई बुरा विकल्प नहीं है। बस अपने पुरूष साथी को कॉन्डम का इस्तेमाल करने को जरूर कहें।

यौन जीवन को मनोरंजक बनाने का साधन – वैसे तो नेचुरल सेक्स यानी योनि में लिंग प्रवेश कराना ही बेहतर और सुखद सेक्स होता है। मगर हमेशा एक ही पोजिशन या तरीके से किया गया सेक्स, सेक्स लाईफ को बोरिंग बना सकता है। ऐसे में आप वीरान हो चुकी सेक्स लाईफ में एक नई बहार लाने के लिए एनल सेक्स को ट्राई कर सकते हैं। गांड चुदाई आप दोनों के अंदर एक नई उत्तेजना, जोश और उत्साह का संचार कर सकता है। यूं तो मुख मैथुन और वजाइनल सेक्स बेहतर होते हैं, लेकिन सही तरीके से लुब्रिकेंट्स का प्रयोग करने से गुदा मैथुन भी संतुष्टि प्रदान करने वाला साबित हो सकता है। दूसरी ओर गांड चुदाई का एक फायदा यह भी है कि पीरियड्स के दौरान आप गांड चुदाई करके भी मजा ले सकते हैं।

एनल सेक्स लड़कों के लिए ज्यादा मजेदार – महिलाओं की योनि उतनी टाईट नहीं होती है, जितनी उनकी गुदा होती है। इसलिए लड़कों को लड़कियों की गांड चुदाई करने में ज्यादा मजा आता है। इसलिए पुरूषों के लिए गुदा मैथुन ज्यादा आरामदायक रहता है, विशेषकर kuwari ladki ki gand chudai। ऐसा नहीं है कि केवल पुरूषों को गुदा मैथुन करने में मजा आता है। कुछ महिलाएं भी होती हैं, जो गुदा मैथुन को अच्छे से एन्ज्वॉय करती हैं।

गुदा मैथुन के नुकसान बतायें?

एक शोध के अनुसार 6150 वयस्कों में से लगभग 7 प्रतिशत पुरूषों और लगभग 38 प्रतिशत महिलाओं ने अपने जीवन में एक बार तो गुदा मैथुन को ट्राई जरूर किया है। लेकिन जिन लोगों से लगातार जारी रखा, उनके शरीर में कई प्रकार की गंभीर समस्याएं भी देखने को मिली हैं। आइए जानते हैं गुदा मैथुन के कुछ नुकसान के बारे में।

गुदा फटने का जोखिम – संभोग करने का नेचुरल तरीका केवल योनि में लिंग प्रवेश कराना ही है। क्योंकि योनि में प्राकृतिक चिकनाई होती है, जिसके कारण महिलाओं को और पुरूषों को भी संभोग करने में कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ता है। वहीं दूसरी ओर महिलाओं की गुदा चिकनाई रहित होती है। जिसके कारण गांड चुदाई करने से महिलाओं की गांड फट सकती है। चमड़ी कट-फट सकती है। गुदा की त्वचा छिल सकती है।

एचआईवी की खतरा – यूं तो गुदा मैथुन से अनचाहे गर्भ का खतरा नहीं रहता है। लेकिन गांड चुदाई करने से यौन संक्रमण और खासतौर पर एचआईवी का खतरा 30 प्रतिशत अधिक बना रहता है। दरअसल गांड चोदन करना, यौन संक्रमण को फैलाने के लिए सबसे आसान और उपयुक्त तरीका है। इसलिए अगर आप जब भी गुदा मैथुन करने सोचें तो कंडोम का इस्तेमाल जरूर करें।

कैंसर की संभावना – मेडिकल साइंस की रिसर्च के अनुसार गुदा मैथुन से होने वाले नुकसान में एक गंभीर नुकसान है कैंसर रोग होने की संभावना। रिसर्च से पता चलता है कि पतली झिल्ली होने के कारण गुदा बहुत संवेदनशील होती है। ज्यादा गुदा कैंसर एचपीवी के रिजल्ट में नजर आते हैं। साथ ही गुदा में मस्सा या बवासीर होने की संभावना बढ़ सकती है।

संक्रमण को बढ़ा सकता है – संक्रमण के खतरे को बढ़ाने में नेचुरल तरीक से गुदा मैथुन एक प्रमुख कारण हो सकता है। क्योंकि ये तो आप भी भली-भांति जानते हैं कि गुदा द्वारा केवल मल त्याग का रास्ता है। अधिकर गुदा द्वार में मल पूरी तरह साफ नहीं हो पाता है। कुछ अपशिष्ट पदार्थ और गंदे बैक्टीरिया गुदा द्वार में रह जाते हैं। जिसके कारण गुदा मैथुन करने से लिंग में संक्रमण आ जाता है। इसलिए गुदा मैथुन के बाद लिंग को हमेशा साफ पानी से धो लेना चाहिए। लिंग की साफ-सफाई का ध्यान रखना चाहिए। वहीं महिला को भी चाहिए कि वो अपनी गुदा को अच्छे साफ रखे। बिना सुरक्षा के कभी भी गुदा मैथुन नहीं करना चाहिए।

गुदा मैथुन कब करना चाहिए?

उपरोक्त चर्चा से आप ये तो समझ ही गये होंगे कि gand kaise marte hain? अब जानते हैं कि गुदा मैथुन कब करना चाहिए? यानी ladki ki gand kab marni chahiye?

जैसा कि हमने इस लेख में चर्चा की है कि हमेशा वजाइनल सेक्स करना ही बेहतर होता है। क्योंकि ये तरीका सही भी है और नेचुरल भी है। लेकिन अगर आपन दोनों पति-पत्नी आपसी सहमति से गुदा मैथुन ट्राई करने की सोच रहे हैं, तो ये भी जान लीजिए कि गुदा मैथुन यानी औरत की गांड कब मारें?

सेक्स में नयापन लाने के लिए – अगर आप एक ही तरीके से सेक्स करते हुए बोर हो चुके हैं। तो आप एनल सेक्स को ट्राई कर सकते हैं। लेकिन आपसी समझदारी और सहमति से। यानी अगर आप सेक्स में कुछ हटकर ट्राई करना चाहते हैं। सेक्स में नयापन एक नया अनुभव पाना चाहते हैं, तब आपको आपसी सहमति से गुदा मैथुन करना चाहिए। ये आपके रिश्तों में हो सकता है और भी मधुरता लाने में मददगार साबित हो।

पीरियड्स के दौरान – अक्सर लड़कियां पीरियड्स के दौरान सेक्स को नजरअंदाज ही करती हैं। जोकि स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से देखा जाये तो सही भी है। क्योंकि पीरियड्स के दौरान योनि से गंदा रक्त बहता है, जोकि संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकता है। इसलिए अगर आप वजाइनल सेक्स करना चाहते हैं, तो कंडोल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अन्यथा गुदा मैथुन भी एक विकल्प हो सकता है।

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए – जैसा कि कहा जाता है कि लड़कियां अगर पीरियड्स बंद होने एक हफ्ते के अंदर सेक्स करे तो उन्हें गर्भ ठहरने की संभावना अधिक रहती है। ऐसे में अगर आप अनचाहा गर्भ नहीं चाहती हैं, तो एनल सेक्स बेहतर विकल्प हो सकता है।