धनिया का वैज्ञानिक नाम। साबुत धनिया के फायदे।धनिया Coriander पाउडर के फायदे
धनिया का वैज्ञानिक नाम। साबुत धनिया के फायदे।धनिया Coriander पाउडर के फायदे

धनिया का वैज्ञानिक नाम
धनिया के फायदे
हरा धनिया के फायदे dhaniya ke fayde in Hindi
धनिया पाउडर के फायदे
साबुत धनिया के फायदे
सूखा धनिया के फायदे
धनिया पत्ते के फायदे
कोरिएंडर इन हिंदी coriander in Hindi
धनिया के औषधीय गुण

आइए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं, कि भारत दुनिया के क्या फायदे होते हैं, जी हां दोस्तों हम हरे धनिए का सेवन रोजमर्रा के जीवन में करते हैं,लेकिन आप सब को यह नहीं पता होगा,

हरा धनिया के क्या-क्या benifit होते हैं,और किस प्रकार, हरे धनिए का इस्तेमाल करने से आपके body को कई सारे benifit होते हैं।

धनिया का वैज्ञानिक नाम dhaniya ka vaigyanik naam

हम आपको बताते हैं, कि धनिया का वैज्ञानिक नाम क्या है, अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में धनिया को धनिया ही कहते हैं, लेकिन दुनिया का भी एक वैज्ञानिक नाम है। धनिया का वैज्ञानिक नाम है।

कोरिएंडर स्टाइवम यह धनिया का वैज्ञानिक नाम है। धनिया को इंग्लिश में coriander कहते हैं। यह का होता है, और उसकी हरी हरी पत्तियां होती है। जो घर में kitchan खाने में प्रयोग किया जाता है। इसकी खेती होती है।

कोरिएंडर स्टाइवम यह धनिया का वैज्ञानिक नाम है।

Coriander in Hindi-coriander को हिंदी में क्या कहते है

कोरिएंडर को हिंदी में धनिया कहते हैं। धनिया का इस्तेमाल हम रोजमर्रा के खाने में करते हैं। यह Indian kichen में प्रयोग किए जाने वाली एक सुगंधित हरी पत्ती है। इसे मारवाड़ी में धोणा भी कहते हैं। सामान्य इसका प्रयोग सब्जी की सजावट और ताजे मसाले के रूप में किया जाता है।इसके बीज को सुखाकर भी सब्जी में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

धनिया Coriander पाउडर के फायदे

आइए अब हम आपको बताते हैं, कि धनिया पाउडर के क्या फायदे होते हैं। पहले तो Goriander पाउडर सब्जी बनाने पर उपयोग में लेते हैं। धनिया का सबसे बड़ा उपयोग यही होता है। इसके अलावा सूखे Goriander पाउडर सेहत के लिए भी बहुत जरूरी होता है। धनिया पाउडर के कई सारे चमत्कारी गुणों और फायदे होते हैं।

1 धनिया पाउडर पेट दर्द को दूर करता है।

इसके लिए आपको एक चम्मच धनिया पाउडर एक चम्मच धनिया पाउडर में चुटकी भर हींग और काला नमक डालकर पानी के साथ ले। इसका सेवन कब्ज, उल्टी, दस्त, गैस, अपच, और पेट दर्द, को दूर करता है।

2 पेशाब ना आना सूखा धनिया

सूखा धनिया मिश्री आंवला गोखरू को बराबर मात्रा में लेकर बारीक पीस लें। सुबह-शाम इसका चूर्ण ले पेशाब आने की समस्या जल्द ही हल हो जाएगी।

3 धनिया पाउडर हमारी त्वचा संबंधित समस्याओं को दूर करता है।

धनिया पाउडर में कैल्शियम फाइबर की मात्रा तू ज्यादा पाई जाती है। हमारे शरीर के अंदर त्वचा संबंधी रोग है। उसमें यह भी फायदा करता है।अगर हम इस को पानी में भिगोकर अपने चेहरे पर लगाते हैं, तो इससे हमें पिंपल, मुहासे, झाइयां, जैसी समस्याएं दूर हो जाती है।

4 धनिया पाउडर कोलेस्ट्रोल को लेवल कंट्रोल करता है।

धनिया पाउडर हमारे कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है। इससे हमारा रक्त चाप बिल्कुल सही तरीके से काम करता है, इसीलिए ज्यादा से ज्यादा धनिया पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए।

साबुत धनिया के फायदे- इन पांच बीमारियों में बड़ा कारगर होता है धनिया, हैं कई फायदे

अब हम आपको बताते हैं, कि साबुत धनिया के क्या-क्या फायदे होते हैं। अगर हम सब्जी बनाते वक्त साबुत धनिया का तड़का लगाते हैं, तो इससे हमारा खाना और भी ज्यादा स्वादिष्ट होता है, लेकिन क्या आप जानते हैं।

अगर आप धनिया का पानी रोजाना पीते हैं, तो यह सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है, क्योंकि दुनिया में विटामिन कैल्शियम पोटेशियम जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं। जो शरीर में कई सारी समस्याओं से छुटकारा दिलाते हैं।

अब हम आपको बताते हैं, किस प्रकार आप सबूत देने का इस्तेमाल अपने स्वास्थ्य को सही रखने के लिए कर सकते हैं। साबुत धनियां हमारे ब्लड को साफ करने में मदद करता है।

1 रोजाना साबुत धनिया का पानी पीने के फायदे

साबुत धनिया के पानी में फाइबर और पोटेशियन ऑयल पाए जाते हैं, जो आपको लीवर की बीमारियों से बचाता है, इसीलिए हमें रोजाना धनिए का पानी के सेवन करना चाहिए।

2 साबुत धनिया पीरियड के दौरान होने वाले दर्द को कैसे दूर करता है

साबुत धनिया के सेवन से पीरियड के समय होने वाले दर्द को दूर करता है, क्योंकि इसमें कैल्शियम और फाइबर बताएं। जो हमारे पीरियड के दर्द को दूर करता है।

सूखे धनिया के फायदे benefit of coriander seeds

अब हम आपको सूखे धनिए यानी धनिया के बीजों के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताएंगे सूखा धनिया आमतौर पर हर रसोई में मसाले के रूप में किया जाता है सूखे धनिए का इस्तेमाल मसाले के रूप में ही नहीं औषधि के रूप में भी किया जाता है

जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद रहता है। यह में कई तरह की खतरनाक बीमारियों से बचाता है।

1 कब्ज से राहत gives relief from constipation
2 चेहरे साफ रखें keep face clean
3 घमौरियों से राहत helps in prickly heat
4 पसीने की बदबू को दूर करें removes smell of sweat
5 चोट को दूर करने के लिए. Remove the pain of injury
6 मिर्गी के उपचार में फायदा पहुंचाता है helpful in treatment of epilepsy
7 मसूड़े की सूजन को दूर करें helpful in gingivitis
8 सिर दर्द से राहत दे gives relief from headache
9 एनीमिया दूर करे remove anemia
10 ब्लड शुगर को कंट्रोल करे control boold sugar

धनिया के औषधीय गुण – Amazing Health Benefits Of Dhaniya

धनिये का इस्तेमाल खाना बनाने में भी किया जाता हैं।
आयुर्वेद शास्त्र में महर्षि चरक, एवं महर्षि सुश्रुत, ने धनिया के अनेक औषधीय प्रयोग का वर्णन किया है। आयुर्वेदिक के प्रसिद्ध ग्रंथ भावप्रकाश में भी दुनिया के अनेक प्रयोग बताए गए हैं।

आयुर्वेदिक योग के अनुसार धनिया कई सारी बीमारियों में रामबाण इलाज है। इसे सुधना और खाना दोनों ही मस्तिक के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। शीतल होता है। धनिया अमाशय और यकृत दोनों को ही शक्ति प्रदान करता है।

इसके अलावा धनिया पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है। वायु उत्तर करता है। मुक्त पार्क की बीमारी में इसके पानी से कुल्ला करने पर लाभ होता है। आयुर्वेद मैं धनिए को औषधि के रूप में काम में लिया जाता है।

धनिया का प्रयोग आयुर्वेद में रूप से परंपरागत रूप से किया जाता है। धनिए को पीसकर लगाने से खुजली दूर हो जाती है। अगर किसी को पेशाब रुक रुक कर आ रही है, तो दो चम्मच धनिया पाउडर को पानी में अच्छी तरह उबालकर पी लेने पर पेशाब खुलकर आने लगता है।

कमजोरी या अन्य कारणों से चक्कर आने पर धनिया पाउडर 10 ग्राम तथा आंवले का पाउडर 10 ग्राम लेकर एक गिलास पानी में भिगोकर रख दें, और इसे सुबह मिलाकर पी लें। इसे चक्कर आना बिल्कुल ही बंद हो जाएंगे, तथा अन्य कमजोरी से छुटकारा मिल जाएगा।

अगर पित ज्यादा बढ़ जाता है, तो हरी पीली उल्टियां आना शुरू हो जाती है। इस अवस्था में हरे धनिए का रस निकालकर उस में गुलाब जल मिलाकर पिलाने से लाभ होता है, और सूखा धनिया पाउडर 1 ग्राम हरे धनिए का रस एक चम्मच शहद एक चम्मच मिलाकर पीते रहने से पुरुष की स्तंभन शक्ति बढ़ती है।

इसके अलावा वीर्य गाढ़ा होता है। पेशाब के साथ अगर खून का अंश आता हो, तो सूखी धनिया का काढ़ा बनाकर एक कप कि मात्रा में दिन में तीन बार इसका सेवन कीजिए। इसमें स्वाद के अनुसार काला नमक मिलाया जा सकता है।