अनियमित महावारी के कारण। desi nuskhe for irregular periods in hindi.

अनियमित माहवारी का आयुर्वेद में इलाज (Ayurvedic Treatment of Irregular Periods)

desi nuskhe for irregular periods in hindi – आइए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं। माहवारी यानी पीरियड अनियमित होने के क्या कारण होते हैं, और अनियमित महामारी से बचने के उपाय, जैसा कि आप सब जानते हैं। कि नॉर्मल माहवारी का समय 28 दिन होता है। आजकल अनियमित माहवारी की समस्या बहुत ही ज्यादा बढ़ रही है।

सबसे पहले जानते हैं, कि अनियमित महामारी क्या है, और इसके लक्षण क्या-क्या होते हैं। अगर आपको महामारी 21 दिन से पहले और 35 दिन के बाद आ रही है। तो यह अनियमित माहवारी होती है। आपको माहवारी 21 दिन से पहले आती है। तो आपको माहवारी जल्दी आ जाती है, और अगर 33 दिन के बाद आ रही है। तो आपको महावारी लेट आ रही है।

यह महिलाओं में होने वाली एक आम समस्या है। यह हर महिला को हर 30 दिन के बाद आती है। कभी-कभी कई महिलाएं अनियमित माहवारी का शिकार हो जाती है। जिसमें कभी किसी महिला को जल्दी पीरियड होने लग जाते हैं। तो कभी किसी महिला को 3 महीने में एक बार पीरियड होते हैं। वैसे तो सभी लड़कियों को 30 से ही पीरियड्स होते हैं।

लेकिन किसी किसी लड़की को महावरी 1 साल में चार ही बार होती है, और कहीं लड़कियों और औरतों को महावारी महीने में दो बार भी हो जाती है। लेकिन साधारण रूप से महिला को 1 साल में 11 या 13 पीरियड आने चाहिए। इस संख्या से कम या ज्यादा होना, अनियमित माहवारी के लक्षण होते हैं।

इस वजह से महिलाओं या लड़कियों का व्यवहार चिड़चिड़ा हो जाता है। समय पर माहवारी नहीं होने के कारण पेट में दर्द ज्यादा बढ़ जाता है। सबसे पहले जानते हैं। irregular periods के क्या कारण होते हैं। irregular periods के कई सारे कारण हो सकते हैं।

irregular periods in hindi – अनियमित महामारी के कारण

1 irregular periods के कारण थायराइड की प्रॉब्लम की वजह से महावारी बंद भी हो सकती है, या फिर महावारी देर से भी आ सकती है। थायराइड की वजह से कभी-कभी माहवारी जल्दी भी आने लग जाती है।

2 irregular periods के कारण हार्मोन्स में बदलाव की वजह से हमें अनियमित माहवारी इसलिए होती है। क्योंकि हमारे शरीर के अंदर जो हार्मोन होते हैं। अगर उनमें बदलाव होते हैं। तो हमारे महावारी का वक्त कम हो जाता है। अनियमित माहवारी की शिकायत हो जाती है।

3 अनियमित माहवारी के कारण तबीयत खराब होने की वजह से अगर आप की तबीयत बहुत ज्यादा खराब रहती है। तो भी आपको महावारी जल्दी आ जाती है।

4 अनियमित माहवारी के कारण चोथा उपाय है। बहुत ज्यादा गोलियों का सेवन करने से आपको अनियमित माहवारी हो जाती है। अगर आप हर प्रकार की दवाई का सेवन कर रहे हैं। इससे आपको महावारी जल्दी होने का खतरा रहता है। कभी-कभी तो महीने में दो बार भी पीरियड् हो सकते हैं। इसीलिए हमें गोलियों का सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए।

5 अनियमित माहवारी के कारण पांचवा उपाय है। ज्यादा एक्साइज तथा भाग दौड़ करने की वजह से भी हमें अनियमित माहवारी हो सकती है। अगर हम ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं। तो इससे हमारे बच्चेदानी का मुंह खुल जाता है। इसीलिए हमें अनियमित माहवारी हो जाती है।

6 irregular periods के कारण छठवां उपाय है। सेहत और खानपान की वजह से भी हमें अनियमित माहवारी हो सकती है। इसीलिए आपको ज्यादा से ज्यादा साधारण भोजन करना चाहिए, और खाने में हरी सब्जियां खानी चाहिए तथा ज्यादा से ज्यादा फल फ्रूट खाने चाहिए।

7 अनियमित महावारी का सातवा उपाय है। बहुत ज्यादा टेंशन से या तनाव की वजह से भी आपको अनियमित माहवारी हो सकती है। अगर ज्यादा तनाव में रहते हैं, और ज्यादा टेंशन की वजह से भी आप महावारी के शिकार हो सकते हैं।

8 अनियमित महावारी का अनियमित माहवारी का आठवां उपाय है। अगर आपका वजन तेजी से कम हो रहा है या आपका वजन ज्यादा बढ़ रहा हो। तो इस वजह से भी आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती है। इसीलिए अपने वजन को कंट्रोल में रखें।हमें ऐसा कुछ भी नहीं खाना चाहिए जिससे हमारा वजन ज्यादा बढ़ जाए।

9 अनियमित माहवारी का नोवा उपाय है। गर्भनिरोधक गोलियां खाने की वजह से भी हमें अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती है। अगर आप प्रेग्नेंट है, और इस दौरान अगर आप गर्भनिरोधक गोली का सेवन करते हैं। तो इससे आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती है।

gharelu nuskhe for irregular periods in hindi – अनियमित माहवारी न रुकने के कारण

1 पहला उपाय है। हार्मोन्स का असंतुलन हमारे शरीर में दो हार्मोन होते हैं।
1 एस्ट्रोजन हार्मोन
2 प्रोजेस्टेरोन हार्मोन

irregular periods treatment in hindi

इन हार्मोन्स की वजह से हमारा पीरियड सही से आता है। लेकिन अगर इन हारमोंस का बैलेंस बिगड़ जाता है। तो हमें महामारी अनियमित रूप से आने लग जाती है, और पीरियड समय से नहीं आते हैं। अगर आते भी हैं, तो पीरियड्स रुक रुक कर आते हैं।

2 इसका दूसरा कारण यह भी हो सकता है। कि हमारे अंडाशय में अंडा सही से नहीं बनता है। तो इसका कारण यह होता है। अगर हमारे अंडाशय से में गांठ होती है। तो इसकी वजह से अंडा सही से नहीं बन पाता है।

3 इसका तीसरा कारण यह है। अगर किसी 40 से 45 आयु की औरत को पीरियड स्टार्ट तो हो जाते हैं। लेकिन रुकते नहीं है, या फिर 10 से 12 वर्ष की बालिका जिन्हें पीरियड आना अभी शुरू ही हुआ है।

  1. इसका चौथा कारण यह है। अगर अगर आपको पीरियड्स ढंग से नहीं रुकता है। इसका कारण यह होता है। कि उनकी योनि में गांठ भी हो सकती है। लेकिन यह कैंसर की श्रेणी में नहीं आते हैं।

5 इसका पांचवा उपाय है। अगर कभी हमारी योनि में इन्फेक्शन हो जाता है। तो इस कारण भी हमें महावारी शुरू तो हो जाती है। महावारी रुकती नहीं है।

6 इसका छठवां उपाय है। अगर आप को पीरियड शुरू हो जाता है, और रुकता नहीं है। तो इससे बड़ा कारण यह भी हो सकता है। कि आपकी योनि में कैंसर हो।

अनियमित महावारी के इलाज – irregular periods treatment in hindi

irregular periods treatment पहला उपाय है – आपको ताजे पुदीने की 15 से 20 पत्तियों को यह गिलास पानी में तब तक उबालना है। जब तक कि पानी आधा न रह जाए। जब पानी आधा रह जाए तब इस पानी को छान लेना है। यह irregular periods को रोकने का सबसे सरल उपाय है।

तो इस उपाय को आप जरूर करें। यह पुदीने का पानी आप सुबह खाली पेट पीना है, और नाश्ता करने के 1 घंटे बाद भी पी सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें, कि जब भी आप इसे पिए तो ताजा बनाकर तथा गर्म ही पिये।

irregular periods treatment दूसरा उपाय है– इस उपाय को करने के लिए आपको दो चीजें लेनी है। शहद और काली मिर्च एक चम्मच शहद में सिर्फ दो चुटकी काली मिर्च डालकर मिक्स कर लेनी है। इस तरह इसे खा लीजिए। इसके साथ पानी दुध या कुछ और नहीं लेना है। यह दिन में एक बार कभी भी खाएं या रात में नहीं खाए। पहली बार आप इसको जिस दिन खाते है कोशिश करें कि रोजाना उसी समय खाए।

इससे रोजाना यह चीज आपकी बॉडी में चली जाएगी। इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा। इसे आप कभी भी लेना शुरू कर सकते हैं। पीरियड आने से पहले या पीरियड्स आने के बाद अनियमित मासिक धर्म को दूर करने के लिए इस प्रक्रिया को आपको लगातार दो महीने तक करना चाहिए।

इस बीच में अगर आपको पीरियड आ जाए। तो भी इस प्रक्रिया को आप को चालू रखना है। यह हार्मोंस के बैलेंस को ठीक करती है। शहद में बहुत सारे विटामिन होते हैं। जो महिलाओं के शरीर का इतना हेल्दी बना देते हैं। कि अनियमित महावारी हमेशा हमेशा के लिए जड़ से खत्म हो जाती है।

irregular periods treatment का तीसरा उपाय – अनियमित माहवारी को रोकने के लिए एक अचूक उपाय हैं। अजवाइन बहुत से लोगों के लिए फायदेमंद होती है। यह गर्म होती है। इसलिए पीरियड्स की प्रॉब्लम में बहुत फायदा करती है। अनियमित माहवारी वाली लड़कियों और महिलाओं को यह बहुत फायदा पहुंचाती है। इसके लिए आपको यह करना है। एक मुट्ठी अजवाइन लेकर मिक्सी में सूखा ही पीस लीजिए।

ऐसा करने से इसका पाउडर बन जाएगा। अब आपको इस अजवाइन पाउडर की एक क्लास गर्म दूध के साथ सुबह खाली पेट लेना है। यह प्रक्रिया आपको दिन और रात दोनों में करनी है। इस अजवाइन पाउडर को दूध के साथ मिलाकर नहीं खाना है। इसका पाउडर खाकर फिर गर्म दूध पीना है।

यह प्रक्रिया आपको सुबह और शाम दोनों समय करनी है। अगर इस बीच आपके पीरियड आ जाए, तो भी आपको इस इलाज को करते रहना है। इस प्रक्रिया को करने से अनियमित महावारी की समस्या और जिसके पीरियड्स रुक रुक कर आते हैं। यह दोनों ही समस्या खत्म हो जाएगी।